Tuesday, 20 December 2011

मेरी मुस्कान


मेरी मुस्कान भी कहीं बेठी होगी
तुम्हारे साथ ही हाँथ मेरा उसने छोड़ा था...

No comments: