Sunday, 8 January 2012

बस एक तुम नहीं हो

हर दिन के बादल
हर रोज की बारिश
हर रोज की हलचल

बस एक तुम नहीं हो

हर रोज का सूरज
हर रोज का चाँद
हर रोज के तारे

बस एक तुम नहीं हो

हर रोज वोही दिल
हर रोज वोही दर्द
हर रोज का इंतज़ार

बस एक तुम नहीं हो







No comments: