Friday, 13 January 2012

न तुम जाते हो न तुम्हारी याद जाती है

यह कैसी आफत है ,की जिगर से
 न तुम जाते हो न तुम्हारी याद जाती है ,







No comments: