Thursday, 2 February 2012

beautiful lines by Dr. kumar vishvas.


    • तुम्हारे पास हूँ लेकिन जो दूरी है समझता हूँ
      तुम्हारे बिन मेरी हस्ती अधूरी है समझता हूँ
      तुम्हे मै भूल जाऊँगा ये मुमकिन है नही लेकिन
      तुम्ही को भूलना सबसे ज़रूरी है समझता हूँ

No comments: