Wednesday, 1 February 2012

तन्हाई

तन्हाई को मत तलाशना तुम
दुनिया की भीड़ में अकेले तुम
तन्हाई, चली आई है मेरे साथ
जिस रोज जुदा हुए हम-तुम ....








No comments: