Monday, 20 February 2012

एक शिकायत


सुनो
बस तुमसे मुझे एक शिकायत है
कहते भी नहीं कुछ फिर इतना क्यूँ बोल जाते हो....


No comments: