Tuesday, 6 March 2012

अकेलापन

अकेलापन जैसे खाने को दौड़ता है
कैसी भूख है जो ख़त्म नहीं होती
कभी साथ नहीं छोड़ता मेरा
अकेलापन जैसे जन्मो का साथी है 

No comments: