Tuesday, 6 March 2012

हाथों की लकीरों

हाथों की लकीरों सी उलझी मेरी जिंदगी
कभी किस्मत ने चाहा तो सुलझा देगी......

No comments: