Friday, 30 March 2012

मैं और तुम


मैं हूँ ,और मेरे साथ मेरी तन्हाई तो है
तू अकेला कहाँ -कहाँ जाएगा ?

No comments: