Thursday, 5 April 2012

मैं तलाश कर चुका हूँ खुद को जमाने में

मैं तलाश कर चुका हूँ खुद को जमाने में
एक तेरी आँखे बची हैं आजमाने को.....

No comments: