Friday, 6 April 2012

हर सुबह सोचती हूँ की तुझको भुला दूंगी आज


हर सुबह सोचती हूँ की तुझको भुला दूंगी आज
उस आज के इंतजार में जिंदगी कट गयी...



No comments: