Thursday, 17 May 2012

यह ऊँची ऊँची दीवारों की बातें

यह ऊँची ऊँची दीवारों की बातें 
यह चाँद, तारे, सितारों की बातें 
यह सात जन्म निभाने की बातें 
बेमतलब , बेमानी लगती हैं 
मुझे प्यारी है वो चंद मुलाकाते 
वो थोड़ी थोड़ी मीठी सोगातें
वो पल-पल  में जीते ,जन्मो की यादें 
अनकही ,अनमोल तेरी दोस्ती है 



No comments: