Monday, 11 June 2012

मैं वही हूँ

मैं वही हूँ
वो एक बूँद जो
तुम्हारी आँख के कोने में
उतर आती है
और तुम बहने नहीं देते मुझे
की कहीं खो न दो

मैं वही हूँ
वो एक एहसास
जो दिल्ली की भीड़
में गुजरते हुए किसी
बिंदास को देख तुम्हारे
ख्यालों में उतरती हूँ

मैं वही हूँ
वो एक खामोश पल
जो अपनों ,में बैठ कर
अपनी बातें करते
अचानक कह उठती है
की वो होती तो कितना हंसती 

No comments: