Tuesday, 19 June 2012

सब्र की सुबह भी हुई



सब्र की सुबह भी हुई
सब्र  की शाम भी हुई
सितम का कोई दिन लेकिन
ख़त्म न हो पाया .....


No comments: