Thursday, 14 June 2012

मेरे आंसू

सिमट के रह गए हैं आंसू मेरे
न जाने कब बादल उधार मांग ले।..... 

No comments: