Wednesday, 1 August 2012

खुदा ने तो रोका था , खता से पहले

खुदा ने तो रोका था , खता से पहले
यह नामुराद दिल ,क्या सुनता है किसी की?????

No comments: