Friday, 31 August 2012

तेरी यादें

बंद कर लूँ मै आंखे ,कहीं उफन न जाए
तेरी यादें है जो मचल-मचल  के याद आती है

No comments: