Saturday, 15 September 2012

आदत

आदतन हम तो जी लेतें है तन्हाई के साथ
तुम जो भीड़ से निकलते हो तो क्या खोजते हो ???? 

No comments: