Tuesday, 11 September 2012

रेत पर लिख कर तुम्हारा नाम

रेत पर लिख कर तुम्हारा नाम
खुद ही हथेली से मिटा दिया था
डर था की समुंदर की लहर आती
और तुम्हे साथ अपने ले जाती

No comments: