Friday, 2 November 2012

मदिरा को नशा करा सके कोई

मदिरा को नशा करा सके कोई 
पत्थर से नीर बहा सके कोई
मेरे दिल से तुझे हटा सके कोई
मुझे ऐसे, किसी की तलाश है




No comments: