Sunday, 11 November 2012

तुम्हारा नाम तो मीत है न ?????


मैं पूर्ण-विराम की कैद में बंद 
शब्दों की पंक्तियों से  रचित 
व्यक्त होने  को व्याकुल 
गुमनाम सी अनुभूति हूँ 
मेरा नाम नीर है
तुम्हारा नाम तो मीत है न ?????

No comments: