Sunday, 11 November 2012

Happy lonely Diwali Banna 2012


तुम कहती हो तो चुप रह के देखती हूँ कुछ दिन
अगर याद आए मेरी, तो बहारों से पता पूछ  लेना।
मेरे हर दर्द  के असहाय साखी है फिजा
अपने हर रंग में छुपा कर रखा है  मुझे

No comments: