Wednesday, 13 February 2013

बस एक अधूरापन है दिल को

बस एक  अधूरापन  है दिल को
बस आस लगाए बैठा है
जीवन के जर्जर सीवन को
बस रफू लगाता रहता है
एक बखिया,उधेरा तुम्हारी याद का
कभी फिर  बुना फ़रियाद का
कभी आँख मूंद के पा लिया
कभी सपनो में तुमको खो दिया
बस तुम तक पहुँच सके धरकन
हाँ इसी तलाश में रहता है
बस एक  अधूरापन  है दिल को
बस आस लगाए बैठा है

No comments: