Monday, 11 February 2013

मन तो करता है न

मन तो करता है न
की चाँद को छू सकती मैं
मन तो करता है न
दो -तीन दिन तेरे दिल में रह सकती मैं
मन तो करता है न
दुनिया की रिवाजों से परे
चैन से जी सकती , चैन से मर सकती मैं
मन तो करता है न
दिल के अधूरेपन  को
कभी कभी पूरा कर सकती मैं
मन तो करता है न
कभी तेरे होने या न होने को
कभी खुद को खुद में ही  तलाशती मैं





No comments: