Friday, 4 October 2013

समय

खुद से मिल सकूँ इसलिय 'समय' से दोस्ती की थी
अब 'समय' ने भी तुझ तक जाने की जिद की है

No comments: