Friday, 28 March 2014

तनहाई

बहुत  अकेला सा था दिल  तुम्हारे बिना
तुमने भी तनहाई से अच्छी पहचान कराई--

तनहाई से मिली जो अधुरी जिंदगी  मेरी
जिंदगी ने जी भर कर तेरी कमी बतायी


No comments: