Monday, 19 May 2014

हम तुम

यह मेरी मोहब्बत ही तो है

की तुमको खोने के डर से
कभी पास आने न दिया



No comments: