Tuesday, 6 January 2015

जब बारिश की दो बूंदे साथ मिलकर टपकती हैं
महीनो तेरे  इंतज़ार की कहानी कह जाती हैं

No comments: